Safar Shayari in Hindi: ज़िन्दगी में हर कोई सफर करते है चाहे वो अपने शासक के लिए करे या जीवन रस्ते के क्यों न हो. आज उसी जीवन का यात्रा के लिए Safar Shayari Quotes आपके साथ शेयर करने जा रहे है. जो आपके तलाश हुई मंजिल को अपने वक़्त के साथ शायरी शायरी से बयां कर सके.

इस पेज पे आपके लिए कुछ बहतीरीं Safar Shayari Status पेश किया है जो Zindagi Ke Safar Shayari को लिखा है उन मसोर शायरिन ने.

Is Safar Mein Neend Esi Kho Gayi Hamari
Hum Na Soye Ratbar Aur Rat Thak Ke Sho Gayi

इस सफर में नींद ऐसी खो गयी हमारी
हम न सोये रैबार और रात थक के सो गयी

Dar Humko Bhi Laagta Hai Raste Ke Sannate Se
Par Ak Safar Pe ye Dil Ab Jaana To Hoga.

दर हमको भी लगता है रस्ते के सन्नाटे से
पर एक सफ़र पे ये दिल अब जाना तो होगा.

Safar Shayari
Safar Shayari

Zindagi Yu Hua Basar Tanha
Kafila Saath Aur Safar Tanha.

ज़िन्दगी यु हुआ बसर तनहा
काफिला साथ और सफर तन्हा.

Na Jaane Kaun Sa Manjar Najar Mein Rahta Hai
Tamam Umr Musafiro Me Rahta Hai

न जाने कौन सा मंजर नज़र में रहता है
तमाम उम्र मुसाफिरो में रहता है.

Safar Shayari Quotes
Safar Shayari Quotes

Na Humsafar Na Kisi Hamnashi Se Miklega
Humare Pau Ka Kata Hami Se Niklega.

न हमसफ़र न किसी हमनशी से मिकलेगा
हमारे पाव का कटा हमी से निकलेगा.

Safar Par Shayari

Ak Kadam Ke Fasle Pe Dono Yo Rok Gaye
Bas Yehi Manjil Safar Ki Aakhri Acchi Lagi.

एक कदम के फासले पे दोनों यो रोक गए
बस यही मंजिल सफर की आखरी अच्छी लगी.

In Ajnabi Si Raho Mein
Tu Mera Hamsafar Ho Jaye
Beet Jaye Pal Bhar Me Ye Waqt
Aur Haseen Safar Ho Jaye.

इन अजनबी सी राहों में
तू मेरा हमसफ़र हो जाये
बीत जाये पल भर में ये वक़्त
और हसीन सफर हो जाये.

Aaj Bhi Takaan Se Dukh Raha Hai Badan
Jo Safar Kiya Tha Khahisho Ke Saath

आज भी तकान से दुःख रहा है बदन
जो सफर किया था खाहिशों के साथ

Kitna Bekar Tamanna Ke Safar Hote Hai
Kal Ki Umeedo Pe Har Aaj Basar Hote Hai.

कितना बेकार तमन्ना के सफर होते है
कल की उम्मीदों पे हर आज बाज़ार होते है.

Zindagi Ki Safar Hum Tay To Karte Rahe
Par Rat Katti Rahi Aur Din Gujarte Rahe.

ज़िंदगी की सफ़र हम तय तो करते रहे
पर रात काटती रही और दिन गुजरते रहे.

Safar Shayari In Hindi

Kisi Ko Ghar Se Nikalte Hi Mili Manjil
Aur Koi Umar Bhar Safar Mein Raha

किसी को घर से निकलते ही मिली मंजिल
और कोई उम्र भर सफ़र में रहा

Mujhko Khabar Thi Koi Mere Intejar Pe
Ghar Mein hi Raha
Ye Hadsaa Tha Ki Main Umr Bhar
Yuhi Safar Pe Hi Raha.

मुझको खबर थी कोई मेरे इन्तेजार पे
घर में ही रहा
ये हादसा था की मैं उम्र भर
युही सफ़र पे ही रहा.

Ye Khamosh Zindagi Jo Baras Kar Rahe Ham
Is Gahre Samundaro Me Akele Safar Kar Rahe Hai Hum.

ये खामोश ज़िन्दगी जो बरस कर रहे हैं
इस गहरे समुन्दरो में अकेले सफर कर रहे है हम.

Tere Zindagi Ki Ashli Ka
Jab Tujh Asar Hoga
Asal Mein Us Waqt Hi
Shoru Tere Jeene Ka Safar Hoga.

तेरे ज़िन्दगी की अश्ली का
जब तुझ असर होगा
असल में उस वक़्त ही
शुरू तेरे जीने का सफर होगा.

Read More

Scroll to Top
Close Bitnami banner
Bitnami